18, February 2018 4:33 PM
Breaking News

​नई दिल्ली| भारत सवा सौ करोड़ की आबादी वाला दुनिया का सबसे युवा देश हैं लेकिन यहाँ की युवा आबादी बेरोज़गारी, भ्रष्टाचार और उपयुक्त अवसर न मिलने की गंभीर समस्या से जूझ रही हैं। इतनी विशाल आबादी और युवा ताकत होने के बावजूद भारत अंतराष्ट्रीय पटल की लगभग हर प्रतियोगिता या आयोजन मे बहुत पिछड़ा सा नज़र आता है, फिर वो चाहे ओलंपिक्स की बात हो या किसी और वैश्विक प्रतिस्पर्धा की। भले ही इन सब के कारण अलग अलग हो लेकिन यह विषय बहुत ही गंभीर और विचारशील हैं। इसी विषय वस्तु को भांपते हुए कॉनफ्लूएंस इंडिया देशभर मे लगातार कई राष्ट्रीय – अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन कराने का जिम्मा ले आगे बढ़ रहा हैं।

नई दिल्ली| भारत सवा सौ करोड़ की आबादी वाला दुनिया का सबसे युवा देश हैं लेकिन यहाँ की युवा आबादी बेरोज़गारी, भ्रष्टाचार और उपयुक्त अवसर न मिलने की गंभीर समस्या से जूझ रही हैं। इतनी विशाल आबादी और युवा ताकत होने के बावजूद भारत अंतराष्ट्रीय पटल की लगभग हर प्रतियोगिता या आयोजन मे बहुत पिछड़ा सा नज़र आता है, फिर वो चाहे ओलंपिक्स की बात हो या किसी और वैश्विक प्रतिस्पर्धा की। भले ही इन सब के कारण अलग अलग हो लेकिन यह विषय बहुत ही गंभीर और विचारशील हैं। इसी विषय वस्तु को भांपते हुए कॉनफ्लूएंस इंडिया देशभर मे लगातार कई राष्ट्रीय – अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन कराने का जिम्मा ले आगे बढ़ रहा हैं।
हाल ही मे कॉनफ्लूएंस इंडिया ने ‘अंतराष्ट्रीय लोगो मेकिंग कॉन्टेस्ट’ का आयोजन किया हैं जिसमे प्रतियोगी को कॉनफ्लूएंस इंडिया के लिए इसी नाम से हिन्दी/अंग्रेजी मे एक लोगो डिजाईन करना हैं। यह प्रतियोगिता 10 नवम्बर 2017 तक ऑनलाइन तरीके से वैश्विक स्तर पर चलेगी जिसमे भाग लेंने के लिए कोई भी फीस नही रखी गयी हैं साथ ही इसमे प्रतिस्पर्धा के लिए कोई भी शर्त नही रखी गयी है।
पूर्ण भारत भर से कोई भी इस प्रतियोगिता मे भाग ले सकता है। जिसके लिए प्रतियोगी को ‘कॉनफ्लूएंस इंडिया’ अथवा ‘Confluence India’ नाम से हिन्दी अथवा अंग्रेजी मे एक डिजिटल लोगो तैयार कर संस्था को उसके मेल आयडीtheconfluenceindiamail@gmail.com पर अपने नाम और नंबर के साथ 10 नवम्बर से पहले मेल करना होगा।
इस प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य ग्राफिक, आर्ट, डिजाईन और लोगो के क्षेत्र मे रुचि रखने वाले लोगो को आगे लाना, मंच देना और उनका मनोबल बढ़ाना हैं। इसके लिए संस्था के महानिदेशक राहुल खंडालकर सहित, युवा पत्रकार एवं लेखक देवेश मिश्र, आरज़ू अग्रवाल, इज़हार सिद्दीकी और इन्द्रनील नंदी दिन-रात परिश्रम कर रहे है।
गौरतलब हैं की संस्था के निदेशक और वरीष्ठ पत्रकार राहुल खंडालकर इससे पहले भी कई ऐसे उपक्रम चलाते आये हैं। वह देश के राइज़िंग अंतराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव, मिराज़ इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल और अहमदनगर अंतराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल सहित देश और विदेश के लगभग 10 से अधिक अंतराष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों के आयोजन समिति का हिस्सा हैं। साथ ही बॉलीवुड, टॉलीवुड और मराठी फिल्म इंडस्ट्री मे बतौर दिग्दर्शक और फिल्म मेकर उन्हें उनकी कई फिल्मो के लिए राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय सम्मानो और नॉमिनेशन से नवाज़ा जा चुका हैं। ऐसे मे कॉनफ्लूएंस इंडिया द्वारा देश के कलाकारों को मंच देने और आगे लाने की कवायत तारीफ ए काबिल हैं।
प्रतियोगिता की ज्यादा जानकारीwww.theconfluenceindiablog.blogspot.com इस लिंक से हासिल की जा सकती हैं, साथ ही व्हाट्सएप्प के जरिये भी अधिक जानकारी जुटाने हेतु 9158489801 पर संपर्क किया जा सकता हैं। ऐसी प्रतियोगिताओं से न सिर्फ युवाओं और देश के कलाकारों का मंचन होता हैं और उनका मनोबल बढ़ता हैं बल्कि देश को भी नया काबिल ज़किरा हासिल होता हैं अतः ऐसे आयोजनों मे सभी को बढ़चढ़कर हिस्सा लेने की आवश्यकता हैं।

Written by लवलेश पाण्डेय - Visit Website
loading...

About लवलेश पाण्डेय

Check Also

चित्रकूट गोलियों की तड़तड़ाहट से गूँजा पाठा का बीहड़*सूत्रों के हवाले से आ रही है बड़ी खबर..* चित्रकूट के कुख्यात सबसे बड़े इनामी डकैत बबुली कोल और चित्रकूट पुलिस के बीच जारी है मुठभेड़।

*बड़ी खबर इस वक्त चित्रकूट से* *गोलियों की तड़तड़ाहट से गूँजा पाठा का बीहड़* *सूत्रों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *